महाराष्ट्र में बीजेपी की ‘कुंडली’ पर बैठी शिवसेना बोली- किस तारे को कितनी चमक देनी है ये हम करेंगे तय

महाराष्ट्र में शिवसेना का बीजेपी को लेकर सख्त तेवर जारी है। एक बार फिर शिवसेना की ओर से बड़ा बयान है।

शिवसेना ने साफ कर दिया है कि उसे जो चाहिए वह लेकर रहेगी। वरना बीजेपी को सत्ता गंवानी पड़ेगी। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत का ताजा बयान आया है। उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र की कुंडली तो हम ही बनाएंगे। कुंडली में कौन सा ग्रह कहां रखना है और कौन से तारे जमीन पर कहां उतारने हैं, किस तारे को कितनी चमक देनी है इतनी ताकत आज भी शिवसेना के पास है।”

संजय राउत ने आगे कहा, “जिसके के पास 145 का आंकड़ा है, चाहे वह कोई भी राजनेता या विधायक हो महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बन सकता है। राज्यपाल 145 या सबसे बड़ी पार्टी का आंकड़ा रखने वाले को आमंत्रित करेंगे। बावजूद इसके बहुमत का दावा करने वाली पार्टी को सदन के पटल पर बहुमत साबित करना होगा।”

शिवसेना के इस बयान से साफ हो गया है कि वो बीजेपी के आगे झुकने के लिए तैयार नहीं है। महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए 145 का आंकड़ा चाहिए। बीजेपी को 105 सीटें मिली हैं। वहीं शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं। ऐसे में शिवसेना को अच्छी तरह से पता है कि उसके बगैर बीजेपी सरकार नहीं बना सकती है।

उधर, शिवसेना के सख्त तेवर को देख बीजेपी का रुख नरम हुआ है। बुधवार को महाराष्ट बीजेपी विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना का नाम तो लिया, लेकिन नरम लहजे में। उन्होंने अपील की शिवसेना और बीजेपी को साथ आकर सरकार बनानी चाहिए। उन्होंने ये भी कहा कि शिवसेना की कुछ मांगें हैं, जिसका बैठकर हल निकाल लिया जाएगा।

दरअसल शिवसेना का कहना है कि लोकसभा चुनाव के दौरान जब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, उद्धव ठाकरे के घर पहुंचे थे उस दौरान 50-50 फॉर्मूले की बात हुई थी। शिवसेना के मुताबिक, इसका मतलब ये है कि सरकार में शिवसेना की 50-50 हिस्सेदारी होगी। कैबिनेट में आधे मंत्री शिवसेना के होंगे। इसके साथ ही ढाई-ढाई साल दोनों पार्टियों का मुख्यमंत्री होगा। यहीं पर बात अटक रही हैं। फडणवीस का कहना है कि उनकी जानकारी में 50-50 फॉर्मूले पर कोई सहमति ही नहीं बनी थी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: