एनआरसी: ममता ने छोड़े मोदी सरकार पर साजिश के बाण, कहा, 40 लाख लोगों को देश निकाला करने की रची गई साजिश

असम एनआरसी समौदा जारी होने के बाद राज्य के 40 लाख से ज्यादा लोगों पर बेघर होने खतरा मंडराने लगा है। सूची में नाम नहीं होने से लोग बेहद परेशान हैं। गरीबों और मजलूमों के सामने सवाल यह है कि अब आगे क्या होगा? केंद्र सरकार भले ही यह आश्वास दे रही है कि जिनके नाम सूची में नहीं हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं होगी। लेकिन इसके साथ ही मोदी सरकार यह बात भी कह रही है कि इस मामले में उसका कोई दखल नहीं है, क्योंकि राज्य में जो कुछ भी हो रहा है वह सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में हो रहा है।

राज्य से गरीबों के बेघर होने के खतरे के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर सीधा हमला बोला है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि साजिश के तहत अल्पसंख्यकों को मोदी सरकार बाहर निकाल रही है। उन्होंने कहा, “हम इस बात को लेकर डरे हुए हैं, क्योंकि लोगों को अपने देश में शरणार्थी बनाया जा रहा है। असम से बंगाल और बिहार के लोगों को भगाने की यह एक योजना है। इसका असर पश्चिम बंगाल पर भी पड़ेगा।”

इसे भी पढ़े: असम में NRC लिस्ट जारी, इतने लोग पाए गए अवैध नागरिक

ममता बनर्जी ने आगे कहा, “कई लोग ऐसे हैं जिनके पास अधार कार्ड और पासपोर्ट हैं, बावजूद इसके उनके नाम सूची में नहीं हैं। सरनेम देखकर लोगों के नाम एनआरसी ड्राफ्ट से बाहर कर दिए गए हैं।”

ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से सवाल पूछा, “एनआरसी सूची में जिन 40 लाख लोगों के नाम नहीं हैं वे कहां जाएंगे। क्या केंद्र सरकार के पास पुनर्वास की कोई योजना है? आखिरकार इस फैसले से बंगाल प्रभावित होगा। बीजेपी वोट को लेकर इस तरह की राजनीति कर रही है। मैं गृहमंत्री राजनाथ सिंह से यह निवेदन करती हूं कि वह एक संशोधन बिल लाकर इसे रोकें।”

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: