यूपी: अमित जानी गिरफ्तार, अखलाक हत्याकांड के आरोपी को चुनाव लड़ाने के समर्थन में सभा की थी तैयारी

उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी समेत उसके 9 समर्थकों को पुलिस ने दादरी के बिसाहड़ा गांव से गिरफ्तार कर लिया।

इन्हें पुलिस ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो दादरी के बिसाहड़ा गांव में हिंदू सम्मेलन की अनुमति नहीं मिलने पर आमरण अनशन पर बैठ गए। अखलाक हत्याकांड के मुख्य आरोपी हरिओम सिसोदिया को चुनाव लड़ाने के समर्थन में अमित जानी ने पुलिस से हिंदू सम्मेलन की इजाजत मांगी थी, लेकिन पुलिस ने इजाजत देने से इनकार कर दिया। गिरफ्तार लोगों में हरिओम सिसोदिया भी शामिल है।

पुलिस गिरफ्तार किए गए आरोपियों को थाने लाई और फिर शांति भंग करने के आरोप में एसडीएम के सामने पेश किया, जहां से सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया। जिले में त्योहार के मद्देनजर धारा-144 लागू है। बिसाहड़ा एक संवेदेनशील गांव है। गांव में किसी तरह की सभा या सम्मेलन की इजाजत नहीं दी गई है।

कौन है अमित जानी?

अमित जानी उत्तर प्रदेश का एक कुख्यात माफिया है। लखनऊ में मायावती की मूर्ति तोड़कर अमित जानी सुर्खियां में आया था। खुद को समाजवादी पार्टी का करीबी बताने वाला अमित जानी इस बार लोकसभा चुनाव के लिए बागपत सीट से टिकट के लिए आवेदन भी कर चुका है।

महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमलों को देखते हुए अमित जानी ने उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना का गठन किया था। अमित पर कई संगीन आपराधिक मामले दर्ज हैं। मेरठ के रहने वाले अमित जानी के खिलाफ मेरठ, जेपी नगर और देहरादून समेत कई कई जगहों के थानों में आधा दर्जने से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं। कई मामलों में अमित जानी पर इनाम भी घोषित हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: