मेहुल चौकसी: एंटीगुआ का दावा भारत से क्लीनचिट मिलने के बाद दी नागरिकता

पीएनबी घोटाले के मास्टरमाइंड मेहुल चौकसी को लेकर देश में हो रही राजनीति के बीच एंटीगुआ की सरकार ने चौकाने वाला दावा किया है। एंटीगुआ की सरकार ने कहा है कि हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी को नागरिकता देने के लिए भारत की पुलिस ने क्लीयरेंस सर्टिफिकेट दिया था। विदेश मंत्रालय के मुंबई स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट ऑफिस ने भी मंजूरी दी थी। वहां की सरकार ने कहा कि हमें चौकसी के खिलाफ ऐसी कोई भी सूचना नहीं दी गई थी जो उसे वीजा या नागरिकता देने के खिलाफ हो।एंटीगुआ के इस बयान से मामले की जांच कर रही र्इडी की चौकसी के प्रत्यपर्ण की तमाम कोशिशों को गहरा झटका लगा है।
मेहुल चौकसी ने मई 2017 में एंटीगुआ की नागरिकता हासिल करने के लिए अर्जी दी थी और नवम्बर में उसे वहां की नागरिकता मिल गयी थी। कुछ दिन पहले ही एंटीगुआ कर विदेश मंत्री ने कहा था कि 13 हज़ार करोड़ रुपये के घोटाले के सह आरोपी चौकसी के प्रत्यर्पण के लिए किसी भी वैध अनुरोध का सम्मान किया जाएगा।
आपको बता दें कि महुल चौकसी पीएनबी में 13 हजार करोड़ रुपए का घोटाला करने वाले मुख्य आरोपियों में से एक हैं। मेहुल ने अपने भांजे नीरव मोदी के साथ मिलकर घोटाले को अंजाम दिया था। मामला खुलने से पहले दोनों देश छोड़कर फरार हो गए। जिसके बाद मेहुल एंटीगुआ में फरार हो गयाा।
 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: