राफेल को लेकर संसद में मोदी सरकार पर बरसे राहुल, बोले- सोचा दाल में कुछ काला है, लेकिन पूरी दाल ही काली है

राफेल डील पर बुधवार को लोकसभा में चर्चा हुई। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार को सौदे को लेकर सदन में जमकर घेरा और सरकार से कई सवाल पूछे।

राहुल गांधी ने कहा कि पूरा देश राफेल सौदे पर उंगली उठा रहा है। उन्होंने कहा कि सच को बाहर लाने के लिए सौदे की जेपीसी से कराई जानी चाहिए। बीजेपी के सदस्यों द्वारा नारेबाजी के बीच अपने बयान में राहुल ने इस मुद्दे पर गोवा के एक मंत्री की बातचीत की तथाकथित रिकॉर्डिग चलाने की मांग की, जिससे लोकसभा में कांग्रेस और बीजेपी सदस्यों के बीच तीखी नोकझोक शुरू हो गई।

उन्होंने कहा, “मैंने सोचा दाल में कुछ काला है, लेकिन पूरी दाल ही काली है। हम जेपीसी की मांग करते हैं। इससे सच सामने आएगा। मोदी जी ने प्रक्रिया को नजरअंदाज करने का रास्ता अपनाया। उन्होंने एचएएल से करार छीन लिया। एक जेपीसी की सख्त जरूरत है।”

राहुल ने पीएम मोदी के मंगलवार के एक टीवी इंटरव्यू में उनके दिए गए उस बयान को खारिज कर दिया, जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा था कि “राफेल सौदे में आरोप सीधे मुझ पर नहीं, बल्कि सरकार पर है।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “मोदी थके हुए, परेशान दिखाई दे रहे थे। उन्होंने कहा कि मुझ पर किसी ने उंगली नहीं उठाई, लेकिन पूरा देश उनपर उंगली उठा रहा है।”

राहुल ने कहा कि एक समाचार रिपोर्ट में कहा गया है कि रक्षा मंत्रालय की फाइल नोटिंग में जिक्र किया गया है कि प्रधानमंत्री को राफेल सौदे की बातचीत में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए था। उन्होंने कहा, “मोदी को इसपर भी जवाब देना चाहिए।”

गांधी ने मोदी पर प्रत्येक विमान की कीमत में तीन गुणा वृद्धि करने और खरीदे गए विमानों की संख्या में कमी पर सहमति के बाद ऑफसेट अनुबंध एक निजी कंपनी को देने के लिए प्रक्रिया में फेरबदल करने का आरोप लगाया।

सरजेटली ने बीच में हस्तक्षेप करते हुए कहा कि गांधी जानते हैं कि यह झूठ है और वह इसे प्रमाणित करने से इंकार कर रहे हैं।

राफेल मुद्दे पर सरकार का पक्ष रखने के लिए बीजेपी का राज्यसभा में सांसद और वित्त मंत्री अरुण जेटली लोकसभा में मौजूद थे। जेटली ने राहुल गांधी के आरोप पर कहा, “आप जानते हैं कि यह झूठ है।” उन्होंने कहा, “क्योंकि वह जानते हैं कि यह झूठ है..फिर भी लगातार झूठ बोल रहे हैं।” मंत्री ने मैक्रों पर गांधी के बयान का संदर्भ भी दिया और कहा कि यह झूठा और मनगढ़ंत है।”

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि राहुल गांधी ने हमें एक बार फिर निराश किया है क्योंकि हमें इनसे उम्मीद थी कि ये कुछ पुख्ता बातें सदन में रखेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मुख्य वक्ता ने सब कुछ झूठ बोला है, पिछले 6 महीने से इस मामले में बोला गया हर शब्द फर्जी और झूठा है।

जेटली ने कहा कि गोवा के सीएम पर्रिकर और बीजेपी विधायक विश्वजीत राणे के जिस ऑडियो टेप कांग्रेस जिक्र कर रही है वो फर्जी है और इसकी जांच हो रही है। राफेल पर राहुल गांधी के आरोपों का जवाब देते हुए सरकार की ओर से वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि राहुल गांधी ने जो भी कहा है वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ है। कांग्रेस सच को नकार रही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: