गुरुग्राम: बीजेपी हुकूमत में मुसलमानों पर जुल्म, मुस्लिम युवक की जबरन काटी दाढ़ी, मना करने पर पीटा

बीजेपी सरकार चाहे लाख दावे कर ले, लेकिन उसकी हुकूमत में अल्पसंख्यकों पर दबंगई थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। हरियाणा के गुरुग्राम में नूह जिले के रहने वाले एक युवक की जबरन दाढ़ी काटने का मामला सामने आया है। पीड़ित युवक जफरुद्दीन के मुताबिक, उनका गुरुग्राम के इफ्को चौक पर ढाबा है। जफरुद्दीन ने बताया कि वे मंगलवार को अपने ढाबे में काम करने वाले इब्राहिम नाम के कर्मचारी का बाल कटवाने के लिए खांडसा के एक सैलून में गए थे। जब वे वहां पहुंचे तो सैलून में पहले से ही दो युवक बैठते थे। जफरुद्दीन का कर्मचारी सैलून में बाल कटवाने लगा और वे वहीं बैठ गए। इसी दौरान सैलून में बैठे दोनों युवकों ने उनका नाम पूछा, जैसे ही उन्होंने बताया कि मेरा नाम जफरुद्दीन है तो दोनों युवक भड़क गए। जफरुद्दीन के मुताबिक, दोनो युवक उनके ऊपर दाढ़ी कटवाने के लिए दबाव बनाने लेगे। लेकिन जफरुद्दीन ने कटवाने से मना कर दिया। इसके बाद आरोपियों ने नाई से जफरुद्दीन की दाढ़ी काटने के लिए कहा, नाई ने भी ऐसा करने से मना कर दिया। इसके बाद दोनों युवकों ने जफरुद्दीन और नाई की पिटाई कर दी और जबरन जफरुद्दीन की दाढ़ी कटवा दी।

जफरुद्दीन ने बताया कि इस घटना के बाद उन्होंने 100 नंबर पर पुलिस से संपर्क करने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस से संपर्क नहीं हो पाया था। इसके बाद उन्होंने गुरुग्राम में अपने जानने वालों को फोने किया और मौके पर बुलाया, लेकिन डर के मारे किसी की हिम्मत नहीं हुई कि वहा पहुंचे।

जफरुद्दीन ने बताया कि इस घटना के बाद वे अपने घर नूंह जिले के खंड पुन्हाना के बादली गांव चले गए। बाद में जफरुद्दीन ने गुड़गांव के सेक्टर 37 थाने में एक शिकायत दर्ज करवाई, जिसके आधार पर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

इस घटना के बाद से जफरुद्दीन के परिजन डरे हुए हैं। वहीं नूह में मेव समाज के लोगों ने इस घटना की कड़ी निंदा की है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। मेव समाज का कहना है कि हरियाणा की खट्टर सरकार ने गुड़गांव का नाम बदलकर गुरुग्राम रखा था। यह उम्मीद जताई जा रही थी कि गुरु द्रोणाचार्य के नाम पर जिले का नाम रखने से यहां के संस्कार बदलेंगे, लेकिन नाम बदले जाने के बाद गुरुग्राम नफरत के लिए जाना जाने लगा है। लोगों ने कहा कि गुरुग्राम में पहले जुमे की नमाज पढ़ने पर मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाया गया और अब दाढ़ी रखने और टोपी पहनने पर निशाना बनाया जा रहा है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: