कुंभकर्णीय नींद सो रहा प्रशासन! बागेश्वर में सड़क मार्ग बदहाल, नहीं ले रहा कोई सुध

उत्तराखंड के पहाड़ी जनपदों में बारिश के कारण हुए भूस्खलन से अभी भी कई रास्ते बंद पड़े हैं।

जिला प्रशासन लगातार इन बंद पड़े दर्जनों सड़कों पर यातायात सुचारु करने में लगा है। बंद पड़ी सड़कों के कारण दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इतना ही नहीं जरूरी सामान भी गांवों तक नहीं पहुंच पा रहा है। वहीं वाहन सुविधा ठप पड़ने से लोगों के तहसील व जिला मुख्यालय के कामकाज पर भी असर पड़ा है। वहीं ग्रामीण लगातार प्रशासन से जल्द सड़कों को खोलने की अपील कर रहा है।

आपको बता दें, बारिश के चलते जिले की दर्जनों सड़कों को नुकसान पहुंचा है। बारिश का दौर थमने के बाद अधिकांश सड़कों पर यातायात सुचारु करा दिया गया, लेकिन अब भी छह सड़कें बंद पड़ी हैं। बंद सड़कों में दोफाड़-पपों-रताइश, भयूं-गडेरा, धपोली-जेठाई, ह्वीलकुलवान, कपकोट-कर्मी-तोली-बघर और रौल्यांना-लोहागढ़ी रोड प्रमुख हैं। इनमें से बघर मोटर मार्ग करीब दो माह से बंद पड़ा है। अन्य सड़कों को बंद हुए भी एक पखवाड़े से अधिक का समय बीत गया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: