उत्तराखंड के अभिषेक विश्व के टॉप शोधकर्ताओं में हुए शामिल, दुनियाभर में पहाड़ियों का नाम किया रोशन

चंपावत के पाटी विवेकानंद विद्या मंदिर और लोहाघाट पीजी कॉलेज से पढ़े डॉ. अभिषेक बोहरा ने पूरी दुनिया में उत्तराखंड का नाम रोशन किया है।

अभिषेक ने विश्व के टॉप शोधकर्ताओं में हुए शामिल हो गए हैं। अंतरराष्ट्रीय शोध पत्र प्लॉस बायोलॉजी के अक्टूबर में जारी सूची में उनका नाम प्रकाशित हुआ है। इसे स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (कैलिफोर्निया, अमेरिका) के शोधकर्ताओ ने तैयार किया है। सूची में विश्व के दो टॉपर शामिल हैं। अभिषेक बोहरा वर्तमान में भारतीय दलहन अनुसंधान संस्थान कानपुर में वैज्ञानिक के पद पर कार्यरत हैं। डॉ. बोहरा को उनके वैज्ञानिक योगदान के लिए 2016 में भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (इंसा) के यंग-साइंटिस्ट मेडल से भी नवाज जा चुका है। यह सम्मान 35 साल से कम आयु के शोधकर्ताओं को विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए मिलता है।

अभिषेक बोहरा ने गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल पाटी से 1998 में 10वीं की परीक्षा पास की थी। साल 2000 में गवर्नमेंट इंटरमीडिएट स्कूल लोहाघाट से इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की। इसके बाद स्वामी विवेकानंद गवर्नमेंट पीजी कॉलेज से उन्होंने 2004 में बीएससी की परीक्षा पास की।

अभिषेक बोहरा ने एमएससी और पीएचडी की उपाधि क्रमश: गोविंद बल्लभ कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय पंतनगर जिला उधमसिंह नगर एवं उस्मानिया यूनिवर्सिटी हैदराबाद से हासिल की। डॉ. बोहरा के अब तक 65 से ज्यादा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: