कोरोना: उत्तराखंड में शुक्रवार को 6 घंटे के लिए खुलेंगी दुकानें, आराम से सामान लेने जाएं, भगदड़ न मचाएं

उत्तराखंड में कोरोना वायरस को लेकर लगातार त्रिवेंद्र सरकार सतकर्ता बरत रही है। इस बीच सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य में कोरोना की स्थिति का जायजा लिया।

सीएम त्रिवेंद्र सिंह ने निर्देश दिया कि आटा मिलें चलती रहें, इसे सुनिश्चित किया जाए। पंजीकृत और अन्य श्रमिकों के साथ अन्य जरूरतमंदों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराई जाए। जरूरी सावधानियों के साथ फार्मा इंडस्ट्री चलती रहें। उन्होंने कहा कि जो लोग बाहर से आ रहे हैं, उनको होम क्वारेंटाइन कराया जाए। कोरोना संदिग्ध लोग, जिनकी रिपोर्ट लम्बित हैं, उनको सख्ती के साथ घर पर क्वारेंटाइन किया जाए। इस पर लगातार चेकिंग भी की जाए।

सीएम ने जिला अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि इनको क्रॉस चेक करा लें। जिलों में होम डिलीवरी व्यवस्था को मजबूत करने के आदेश दिए गए हैं। साथ ही कहा गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। सीएम ने अभी तक की स्थिति पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि आपसी समन्वय से आगे भी काम करना है। उन्होंने कहा कि छोटी से छोटी कोताही भी नहीं होनी चाहिए।

प्रदेश में लॉकडाउन के बीच कल यानी शुक्रावार 27 मार्च को बाजार आवश्यक वस्तुओं के लिए सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंगे। फल सब्जी की ठेलियां चल सकती हैं। चार पहिया वाहन पूरी तरह से बंद रहेंगे। दोपहिया वाहन सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक चलेंगे, लेकिन इनपर एक ही व्यक्ति बैठेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवश्यकता होने पर देहरादून और हल्द्वानी में 500 बेड के प्री फैब कोरोना अस्पताल बनाए जा सकते हैं, इसके लिए संबंधित जिला अधिकारी 5 एक़ भूमि चयनित कर लें।

सीएम ने कहा कि छोटी आटा चक्कियों को चलने दें। थोक सप्लाई को न रोके। दुकानों पर रेट लिस्ट अवश्य लगें। फूड प्रोसेसिंग से संबंधित फैक्ट्री चलती रहें। इस अहम बैठक में सचिव नितेश झा ने बताया कि अभी उत्तराखंड कोरोना के पहले फेज में है। यहां पाए गए पाजिटिव केस बाहर से आए हुए हैं। स्थानीय संक्रमण नहीं हुआ है। सोशल डिस्टेंसिंग रखने में सफल रहे तो राज्य में कोरोना मामलों को रोकने में अवश्य कामयाब रहेंगे। बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल कुमार रतूङी, सचिव अमित नेगी अन्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी, जिलाधिकारी और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: