सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नैनीताल को दी बड़ी सौगात! इस मामले में प्रदेश का पहला राज्य बना

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट 13 डिस्ट्रिक 13 डेस्टिनेशन योजना के तहत नैनीताल के लिए शासन से 191 लाख की धनराशि जारी कर दी है।

नैनीताल जिला ऐसा पहला जिला है, जिसके लिए धनराशि जारी की गई है। इस योजना के तहत नैनीताल के पर्यटक स्थल मुक्तेश्वर को हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित किया जाएगा। जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टीनेशन योजना के तहत जनपद के दूरस्थ क्षेत्र वाले धार्मिक, सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक सौन्दर्ययुक्त वादियों का विकास करना है।

उन्होंने बताया कि 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टीनेशन में जिले के मुक्तेश्वर को शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि पर्यटक मुक्तेश्वर क्षेत्र की प्राकृतिक सुन्दरता के साथ ही हिमालय की बर्फीली वादियों के दर्शन कर सकेंगे। नए पर्यटक डेस्टिनेशन विकसित होने से क्षेत्रीय लोगों को रोजगार मिलेगा साथ ही वहां की आधारभूत सुविधाओं जैसे सड़क, पानी, बिजली तथा स्वास्थ्य सुविधाओं मे भी इजाफा होगा।

13 डिस्ट्रिक 13 डेस्टिनेशन योजना मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना है जिसके तहत पुराने पर्यटक स्थलों की क्षमता वृद्वि करने के लिए पुराने पर्यटक स्थलो से लगे पर्यटन स्थल, जहां सौन्दर्य की दृष्टि से पर्यटन की सम्भावनायें है, को विकसित करना है। नए पर्यटक डेस्टिनेशन विकसित होने से क्षेत्रीय लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही वहां की आधारभूत सुविधाओं जैसे सडक, पानी, बिजली, स्वास्थ्य सुविधाओ मे भी इजाफा होगा।

ये काम किए जाएंगे:

नैनीताल जिले को स्वीकृत धनराशि 351.99 लाख की तुलना में अभी 191 लाख की धनराशि जारी की गई है। योजना के तहत मुक्तेश्वर पर्यटन सर्किट में हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित करने के लिए महादेव मन्दिर के चारों ओर सौन्दर्यीकरण और रास्ते का सुधारीकरण कार्य, चैली की जाली के रास्ते का सौन्र्दीकरण के साथ ही ई-टाइलेट, व्यू प्वाइंट, सोविनियर शॉप निर्माण, मुक्तेश्वर पर्यटन आवास गृह परिसर मे हिमालय दर्शन थीम आधारित डिजिटल व्यू प्वाइंट की स्थापना तथा गार्डन का सौन्दर्यीकरण, मुक्तेश्वर चैराहे का सौन्दर्यीकरण, भालूगाड वाटर फॉल तक 1.2 किमी ट्रैक रूट पर चार लोहे के पुल निर्माण ताकि पर्यटकों का वर्ष भर वाटरफॉल तक आवागमन बना रहे, भालू गाड वाटर फाॅल ट्रैक रूट पर चार सोविनियर शॉप निर्माण, भालूगाड जलाशय मे सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षा फैन्सिंग साथ ही सोलर लाईट, शौचालय, चैजिंग रूम निर्माण, राष्ट्रीय राजमार्ग अल्मोडा-हल्द्वानी सडक मार्ग पर स्थित पुरानी जसुली देवी धर्मशाला का जनजाति संग्रहालय के रूप मे जीर्णोद्वार कार्य किए जाएंगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: