UPSC का रिजल्ट आउट, उत्तराखंड के बेटे-बेटी ने बढ़ाया पहाड़ियों का मान

यूपीएससी का रिजल्ट आ गया है। इस बार संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में हरियाणा के किसान के बेटे प्रदीप सिंह ने टॉप किया है।

उत्तराखंड के भी कई प्रतिभागियों को प्ररीक्षा में बड़ी कामयाबी मिली है। केदारनाथ के मुकुल जमलोकी ने सिविल सेवा परीक्षा 2019 में देशभर में 260वीं रैंक हासिल की है। मुकुल की खास बात ये है कि वो पिछली बार भी यूपीएससी की परीक्षा में सफल हुए थे और 405वीं रैंक हासिल की थी। इस वक्त भारतीय पोस्टल सेवा में उत्तराखंड में कार्यरत हैं। इससे भी पहले वो भारतीय सूचना सेवा में 504वीं रैंक के साथ चयनित हुए थे और डेढ़ साल तक हरियाणा में भारतीय सूचना सेवा में कार्यरत रहे। मुकुल की काबिलियत का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि उन्हें हर कोशिश में कामयाबी मिली है। पेसे से मुकुल इंजीनियर भी हैं और स्विस कंपनी की जॉब छोड़कर एक साल तक परीक्षा की तैयारी की। मुकुल जमलोकी ने 10वीं तक की पढ़ाई ब्राइटलैंड स्कूल से हुई है। इसके बाद उन्होंने 12वीं की पढ़ाई दिल्ली के स्प्रिंग डेल्स स्कूल से की। इसके बाद इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के भारती विद्यापीठ कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग सेमुकुल ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की।

एक तरफ बेटे ने प्रदेश का मान बढ़ाया तो वहीं बेटी भी पीछे नहीं रही। जौनसार बावर जनजातीय क्षेत्र की रहने वाली सृष्टि ने भी UPSC की परीक्षा में कामयाबी हासिल की है। उन्होंने देशभर में 734वीं रेंक हासिल की है। सृष्टि जौनसार बावर की खत मंज्यारना (उदपाल्टा) के नेवी गांव से ताल्लुक रखती है। सृष्टि के पिता दौलत सिंह आईटीबीपी में डिप्टी कमांडेंट के पद पर कार्यरत हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: