उत्तराखंड: विधानसभा का सत्र बुलाने की तारीख को लेकर सस्पेंस बरकरार, पढ़ लीजिये सत्र बुलाने का क्या है नियम?

उत्तराखंड का विधानसभा सत्र 25 सितंबर से पहले होगा। हालांकि अभी तारीख तय नहीं हुई है और ये भी तय नहीं है कि सत्र देहरादून विधानसभा में होगा या गैरसैंण विधानयभा में होगा।

ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि कोरोना महामारी को देखते हुए दून में ही सत्र का आयोजन किया जाए। दरअसल कुछ वक्त पहले ही सरकार ने देहरादून के अलावा गैरसैंण को भी प्रदेश की राजधानी बना दिया है। प्रदेश सरकार ने मार्च में गैरसैंण भराड़ीसैंण में विधानसभा सत्र आयोजित भी किया था। इस सत्र में सरकार बजट भी लेकर आई थी। ये पहली बार था जब सरकार ने बजट गैरसैंण में पेश किया और उसे पारित दून में कराया था। दून में 25 मार्च को सत्र बुलाया गया था।

चूंकि नियम के मुताबिक एक विधानसभा सत्र से दूसरे विधानसभा सत्र को बुलाने के बीच छह महीने से ज्यादा का वक्त नहीं हो सकता, उस लिहाज से सरकार को 25 सितंबर से पहले ही सत्र बुलाना होगा। कोरोना महामारी की वजह से इस वक्त काफी कुछ बदला हुआ है। अनलॉक की प्रक्रिया भले ही शुरू हो गई, लेकिन सभी कामों की इजाजत अभी भी केंद्र सरकार की तरफ से नहीं दी गई है। इसी को देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कि दून में ही सरकार विधानसभा का सत्र बुलाए। फिलहाल ये सरकार को तय करना है कि सत्र कहां होगा, किस समय होगा और कितने समय का होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: