उत्तराखंड: बागेश्वर के सक्षम रौतेला ने रचा इतिहास, दुनिया में रोशन के किया पहाड़ का नाम

उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के 16 साल के सक्षम रौतेला ने प्रदेश का नाम ऊंचा किया है।

विश्व शतरंज संस्था फीडे ने इंटरनेशनल मास्टर (आईएम) के खिताब से सक्षम रौतेला को नवाजा है। सक्षम ये खिताब पाने वाले प्रदेश के पहले खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही सक्षम देश के चुनिंदा 125 आई में शामिल हो गए हैं। फिलहाल में उनकी फीडे रेटिंग 2480 है। वो देश के टॉप 50 खिलाड़ियों में शामिल होने के साथ ही उत्तर भारत के इकलौते आईएम हैं।

सक्षम रौतेला ने दिसंबर 2019 में आईएम का अपना पहला नॉर्म पूरा किया। इस साल जनवरी में उन्होंने दूसरा नार्म पूरा किया। इस साल फरवरी में बोस्निया शहर के बिल्येनिया में आईएम प्रतियोगिता में खेलते हुए उन्होंने 7.5 अंक हासिल करने के साथ ही तीसरा और आखिरी नॉर्म भी हासिल कर लिया। अब फीडे की तीन महीने में होने वाली बैठक में उनके आईएम खिताब को मान्यता मिलनी रह गई थी, जो कि सितंबर माह में होनी थी। मीटिंग के बाद 8 अक्टूबर को फीडे ने उन्हें आईएम खिताब से नवाजा है।

ऑल इंडिया चेस फेडरेशन की रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा वक्त में भारत में 66 ग्रैंड मास्टर और 125 इंटरनेशन मास्टर हैं। इनमें से एक हैं सक्षम रौतेल। बता दें कि कंट्रीवाइड पब्लिक स्कूल बागेश्वर के 12वीं कक्षा के छात्रा सक्षम रौतेला ने साल 2012-13 में शतरंज खेलना शुरू किया था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: