उत्तराखंड: बदलने वाली है बागेश्वर जिले की तस्वीर, ये है प्रशासन का प्लान!

बागेश्वर के लोगों के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही उनके शहर की तस्वीर बदलने वाली है।

नमामि गंगे योजना के तहत गंगा और गोमती तट के किनारे का नव निर्माण और सौंदर्यीकरण किया जाएगा। इसके साथ ही सुरक्षा के इंतजाम भी उठाए जाएंगे। करोड़ों रुपये की लागत से ये सभी काम जिले में किये जाएंगे। इसी को लेकर जिला कार्यालय सभागार में गंगा सुरक्षा समिति की बैठक हुई। इस दौरान डीएम ने योजना को लेकर जरूरी दिशा निर्देश दिए। इस मीटिंग में सिंचाई विभाग के ईई एके जॉन ने बताया कि नमामी गंगे योजना के तहत ब्लॉक बागेश्वर में सरयू नदी के दांये पार्श्व पर नगर क्षेत्र की सुरक्षा के लिए सुरक्षात्मक, निर्माण और सौंदर्यीकरण किया जाएगा। इसमें भाग एक में 585.39 लाख और दूसरे भाग में 1383.36 लाख सहित कुल 1968.85 लाख की लागत से काम किया जाएगा। भाग एक में सूरजकुंड में 300 मीटर लंबाई में नये घाट और बागनाथ मंदिर के समीप स्थित घाटों के नव निर्माण और सौंदर्यीकरण का काम किया जाएगा। इसमें गोमती पुल से काल भैरव मंदिर तक 120 मीटर रैंप भी बनेगा। मोक्ष द्वार और संगम तक जाने का रास्ता भी बनाया जाएगा।

मीटिंग में बैठक में समिति के सदस्यों ने योजना को लेकर अपने सुझाव रखे। डीएम ने प्रभागीय वनाधिकारी और अधिशासी अभियंता सिंचार्इ को नमामी गंगे प्रोजेक्ट के तहत गंगा को स्वच्छ और निर्मल करने के लिए नदियों में नदी, नालों से निकलने वाले कचरे का ठीक ढंग से निपटाने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: