देहरादून: परिवहन विभाग ने टाटा कंपनी से खरीदी बसों का संचालन रोका, ये है वजह

उत्तराखंड परिवहन निगम ने टाटा कंपनी से खरीदी करीब 300 बसों का संचालन रोक दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बसों के लीवर टूटने का सिलिसिला जारी है। इसी वजह से विभाग ने ये फैसला लिया है।

बताया जा रहा है कि बुधवार को एक और बस का गीयर लीवर टूट गया। इस घटना को गंभीरता से लेते हुए विभाग ने जांच के आदेश दे दिये हैं। साथ ही टाटा कंपनी से खरीदी गई सभी नई बसों के संचालन पर फिलहाल रोक लगा दी गई है। प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह चौहान का कहना है कि अगर जांच में खामियां उजागर होती हैं तो नई बसों को कंपनी को लौटाया जाएगा। उन्होंने कंपनी के भुगतान पर भी रोक लगा दी है।

आपको बता दें कि उत्तराखंड परिवहन निगम ने टाटा और अशोक लेलैंड से 300 नई बसें खरीदी हैं। टाटा ने बीएस-4 मॉडल की 150 बसों की डिलिवरी भी कर दी हैं। हैरानी की बात है इनमें से अब तक तीन बसों के गीयर लीवर टूट चुके हैं। निगम की सूचना पर कंपनी टूटे गीयर लीवर्स को बदल रही है और बसों की तकनीकी जांच भी की जा रही है।

विभाग का सबसे बड़ा डर

परिवहन विभाग को डर है कि अगर पहाड़ी इलाकों में बस का गीयर लीवर टूट गया तो बड़ा हादसा हो सकता है। विभाग ने टाटा के भुगतान पर भी रोक लगा दी है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: