उत्तराखंड पंचायत चुनाव रिजल्ट: इन महिलाओं ने रचा इतिहास, सबसे कम उम्र में बनीं प्रधान, प्रदेश में हो रही इनकी चर्चा

उत्तराखंड में पंचायत चुनाव के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। चुनावों में युवाओं ने इतिहास रच दिया है।

पंचायत चुनाव में चारों तरफ युवाओं का बोलबाला नजर आ रहा है। चुनाव में बेहद कम उम्र की महिलाओं और युवतियों ने अपना लोहा मनवाया है। हल्दवानी के पनियाली ग्राम सभा में 21 साल की रागिनी आर्य सबसे कम उम्र की प्रधान बनी हैं। जीत के बाद उन्होंने कहा कि लोगों की उमम्मीदों पर वो खरार उतरने की कोशिश करेंगी। रागिनी ग्रेजुएट हैं। उनकी जीत से गांव के लोग बेहद खुश हैं।

देहरादून के रायपुर के लड़वाकोट की शिवानी कंडारी सिर्फ 23 साल की उम्र में प्रधान बन गई हैं। जीत के बाद शवानी ने कहा कि उनका मकसद गांव की महिलाओं को शसक्त बनाना है। उन्होंने कहा कि गांव में स्वास्थ्य और शिक्षा जैसी व्यवस्थाओं को वो बेहतर करने के लिए कदम उठाएंगी। गांव में 6 प्रत्याशी प्रधान पद के लिए खड़े थे, जिन्हें शिवानी ने हराया है।

वहीं, चंपावत के भंडार बोरा में मीना कुंवर प्रधान पद पर जीत हासिल की है। मीना ने ये कामयाबी सिर्फ 23 साल की उम्र में हासिल की है। मीना ने सिर्फ 27 वोटों से जात हासिल की है। उन्होंने भी जीत हासिल करने के बाद गांव के विकास पर फोकस करने की बात कही।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड पंचायत चुनाव रिजल्ट: इस गांव में चाय बेचने वाला बना प्रधान, प्रेरणादयक है चाय वाले की कहानी

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड पंचायत चुनाव रिजल्ट: इस गांव में नई नवेली दुल्हन बनी प्रधान, एक हमीने पहले हुई थी शादी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: