उत्तराखंड: बेटे के जन्मदिन पर उठी कांस्टेबल पिता की अर्थी, सभी की आंखें हुईं नम

उत्तराखंड के काशीपुर के भीमनगर में कांस्टेबल मोहित जोशी का अंतिम संस्कार कर दिया गया। नम आंखों से उन्हें इलाके के लोगों ने विदाई दी।

कांस्टेबल मोहित जोशी का शव मंगलवार को जैसे ही उनके पैतृक आवास पर पहुंचा उनके घर में चारों तरफ चीख-पुकार मच गई। पूरे घर में मातम पसर गया। मंगलवार को ही मोहित जोशी के बेटे का जन्मदिन था, वो बेटे के जन्मदिन के मौके पर घर आने वाले थे। लेकिन भगवान को ये मंजूर नहीं था। उनकी जगह उनकी लाश पहुंची। रो, बिलख रहे परिजनों और कांस्टेबल की पत्नी को एएसपी ने ढांढस बंधाया। दोपहर में राजकीय सम्मान के साथ कांस्टेबल मोहित जोशी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया।

कांस्टेबल मोहित जोशी पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में तैनात थे। बताया जा रहा है कि मामूली विवाद में उनके साथी कांस्टेबल गिरीश जोशी ने उनकी हत्या कर दी थी। आरोपी कांस्टेबल गिरीश से पूछताछ के बाद मोहित का शव खाई से बरामद किया। पोस्टमार्टम के बाद पिथौरागढ़ लाइन में कांस्टेबल का शव पुलिस लाइन में रखा गया था। एसएसपी समेत दूसरे अधिकारियों ने कांस्टेबल मोहित जोशी को श्रृद्धांजलि दी। वहीं, आरोपी कांस्टेबल को हिरासत में लेकर पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: