उत्तराखंड: कोरोना को फैलने से कैसे रोकना है इस गांव के लोगों से सीखिए?

कोरोना को हराने के लिए सरकार के साथ ही समाज के अलग-अलग तबके के लोग भी अपने-अपने स्तर पर कोशिश कर रहे हैं। उत्तराखंड के गांव के लोग भी इस दिशा में काम कर रहे हैं।

चमोली के घाट विकासखंड के रामणी गांव में कोरोना को लेकर खास एडवाइजरी जारी की गई है। जिसके मुताबिक गांव में बाहर से आने वालों के लिए स्वास्थ्य जांच जरूरी है। यानि गांव के अंदर दाखिल होने से पहले आपको अपना हेल्थ चेकप कराना होगा, उसके बाद ही आपकी गांव में एंट्री मिलेगी।

गांव के प्रधान सूरत सिंह पंवार ने बताया कि गांव की आबादी 1 हजार है। आधी से ज्यादा आबादी काम करने के लिए शहरों में गई है। अब काम नहीं होने की वजह से वो गांव वापस लौट रहे हैं। इसलिए ऐहतियात के तौर पर उनकी जांच की जा रही है कि कहीं किसी भी शख्स के साथ कोरोना वायरस भी दस्तक ना दे दे। प्रधान कहते हैं कि गांव में लोगों को अंदर आने से तो रोक नहीं सकते। लेकिन जो ऐहतियात बरत सकते हैं उसे तो बरतना ही चाहिए। इसलिए ग्रामीणों ने तय किया है कि मैदानी क्षेत्रों से आने वाले लोगों की पहले हम स्वास्थ्य जांच कराएंगे। फिर स्वास्थ्य विभाग कि एडवाइजरी के अनुसार उन्हें गांव में रखा जाएगा। घर आने वाले हर शख्स की सूचना तुरंत प्रशासन को दी जाएगी, ताकि उसकी जांच कराई जा सके।

प्रधान सूरत ने बताया कि अगर कोई कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे आइसोलेट किया जाएगा। उस संबंधित व्यक्ति के आइसोलेशन में होने की बात पूरे गांव में बताई जाएगी। साथ ही बीमार लोगों के बारे में प्रशासन को सूचना भी देंगे। कोरोना वायरस को लेकर जारी एडवाइजरी जनता की भलाई के लिए है, इस बात को हमें समझना होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: