एबीपी न्यूज की एंकर चित्रा त्रिपाठी को सोशल मीडिया पर लोगों ने क्यों किया ट्रॉल ?

एबीपी न्यूज की एंकर चित्रा त्रिपाठी को सोशल मीडिया यूजर्स ने उनके एक ट्वीट को लेकर ट्रॉल किया है। सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें भाइचारा बनाए रखने की नसीहत दी।

वरिष्ठ पत्रकार और एबीपी न्यूज की एंकर चित्रा त्रिपाठी को सोशल मीडिया पर एक बार फिर ट्रॉल होना पड़ा है। मुस्लिम विरोधी एक ट्वीट के लिए सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें खरी खोटी सुनाई। दरअसल 2 दिसंबर को बुलंदशहर में आयोजित तब्लीगी इज्तेमे(मुस्लिमों का धार्मिक कार्यक्रम) में जा रहे कुछ लोगों को देर हो गई। दोपहर के वक्त  वो बुलंदशहर के ही गांव जैनपुर पहुंचे थे तभी नमाज का वक्त हो गया। इज्तेमा में लाखों लोग पहुंच रहे थे। इस वजह से लंबा जाम भी लगा था। जब वहां जा रहे कुछ लोगों को लगा की नमाज में देरी हो जाएगी तब उन्होंने गांव के शिव मंदिर परिसर में नमाज पढ़ने की इजाजत मांगी।

गांव के लोगों ने ना केवल मुस्लिमों को मंदिर परिसर में नमाज पढ़ने की इजाजत दी, बल्कि वजु के लिए पानी का भी इंतजाम किया। मंदिर में नमाज पढ़ने की ये खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुई। लोगों ने इसे सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक बताया। इसी को लेकर चित्रा त्रिपाठी ने एक ट्वीट करते हुए सवाल पूछा ”कोई मस्जिद कभी पूजा-अर्चना के लिये खोली गई है क्या?”

एबीपी न्यूज की एंकर को सोशल मीडिया पर यही सवाल पूछना भारी पड़ गया। सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्रॉल करना शुरू कर दिया। कई सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें ऐसे उदाहरण दिये जहां हिंदू समुदाय के लोगों के पूजा करने के लिए मस्जिद को खोला गया था। एक यूजर्स ने उन्हें याद दिलाया कि केरल में भी मस्जिदों को हिंदुओ के लिए खोला गया था।

https://twitter.com/Asmaparveen77/status/1069668882728783872

कई लोगों ने चित्रा त्रिपाठी को सांप्रदायिक्ता ना फैलाने की नसीहत तक दे डाली। एक यूजर ने ट्वीट कर लिखा ”एक पत्रकार के प्रति जो इज्जत आपके लिए थी वो खत्म हो गई। आप भी देश में नफरत फैलाने वालों के साथ खड़ी नजर आ रही हैं।” यूजर्स ने चित्रा त्रिपाठी को याद दिलाया कि सिंहस्थ कुंभ के दौरान हिंदू समुदाय के लोगों के लिए मस्जिद खोली गई थी।

एक और यूजर ने उन्हें याद दिलाने की कोशिश की कब-कब पूजा के लिए मिस्जिदों को खोला गया। यूजर ने अपने ट्वीट में एक लिंक भी शेयर किया है।

एक और यूजर्स हम्जा चौधरी ने चित्रा त्रिपाठी को याद दिलाया कि कांवड़ियों को मुसलमानों ने शरबत पिलाई है। यूजर ने बताया कि वो अपने हिंदू दोस्तों के साथ दशहरा देखने जाता है।

ट्रॉल होने के बाद इस मुद्दे पर चित्रा त्रिपाठी की तरफ से सफाई में कोई भी ट्वीट खबर लिखे जाने तक नहीं किया गया है। ये पहली बार नहीं है जब सोशल मीडिया यूजर्स ने चित्रा त्रिपाठी को ट्रॉल किया हो। पहले भी उनके ट्वीट के लिए सोशल मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रॉल कर चुके हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: