दिल्ली: रामलीला मैदान में पीएम मोदी का संबोधन, 10 प्वाइंट्स में समझिए प्रधानमंत्री का CAA, NRC और मुसलमानों पर कही बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली की। यहां पीएम ने नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर फैलाए जा रहे अफवाहों को साफ करने की की कोशिश। साथ ही पीएम ने कई और मुद्दों का प्रधानमंत्री ने जिक्र किया और विपक्ष पर जमकर हमला बोला।

पीएम के संबोधन की 10 बड़ी बातें

1. नागरिकता संशोधन बिल पर राजनीतिक दल अफवाह फैला रहे हैं। झूठे बयान दिए गए, झूठे वीडियो, उकसाने वाली बातें कहीं गईं। उच्च स्तर पर बैठे लोगों ने सोशल मीडिया में डालकर भ्रम और आग फैलाने का गुनाह किया है।

2. पीएम ने कहा कि जब हमने दिल्ली में सैकड़ों कॉलोनियों को वैध करने का काम किया तो किसी से पूछा कि आपका धर्म क्या है? आपकी आस्था क्या है? उज्ज्वला योजना के तहत जब 8 करोड़ से ज्यादा गरीब परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिये, तब क्या किसी का धर्म या जाति पूछी थी? मैं कांग्रेस और उसके साथियों से जानना चाहता हूं कि आप क्यों देश की जनता से झूठ बोल रहे हो, क्यों उन्हें भड़का रहे हो?

3. जो लोग मुसलमानों को कागज और सर्टिफिकेट के नाम पर भ्रमित कर रहे हैं उन्हें ये याद रखना चाहिए कि हमने गरीबों की भलाई के लिए, योजनाओं के लाभार्थी चुनते समय कभी कागजों की बंदिशें नहीं लगाईं।

4. जब कोई मुश्किल आती है तो पुलिस धर्म और जाति पूछकर मदद करने नहीं आती। कोई भी परिस्थिति हो वो आकर आपकी मदद के लिए खड़ी हो जाती है। विपक्ष पर हमला करते हुए पीएम ने कहा कि ये लोग उपदेश दे रहे हैं, लेकिन शांति के लिए एक शब्द बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। इसका मतलब है कि हिंसा को, पुलिस पर हो रहे हमलों को आपकी मौन सहमति है।

5. प्रधानमंत्री ने कहा कि झूठ बेचने, अफवाह फैलाने वाले लोगों को पहचानने की जरूरत है। ये लोग दो तरह के होते हैं। एक वो जिनकी राजनीति दशकों से वोटबैंक पर टिकी है। दूसरी वो जिनको इस राजनीति का फायदा मिला है।

6. वोट बैंक की राजनीति करने वाले और खुद को भारत का भाग्य विधाता मानने वालों को आज जब देश की जनता ने नकार दिया तो उन्होंने अपना पुराना हथियार निकाल लिया। बांटों, भेद करो और राजनीतिक उल्लू सीधा करो।

7. पीएम ने साफ किया कि नागरिकता संशोधन कानून भारत के किसी भी नागरिक के लिए नहीं है फिर चाहे वो हिंदू हो या मुसलमान हो। इस कानून का देश में रह रहे 130 करोड़ लोगों से कोई वास्ता नहीं है। कांग्रेस और उसके साथी, शहरों में रहने वाले कुछ पढ़े-लिखे अर्बन नक्सल, ये अफवाह फैला रहे हैं कि सारे मुसलमानों को डिटेंशन सेंटर में भेज दिया जाएगा। पीएम ने ऐसे लोगों से कह कि अपनी शिक्षा की कुछ तो कद्र करिए। एक बार पढ़ तो लीजिए नागरिकता संशोधन एक्ट है क्या?

8. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर मुसलमानों में जो डर फैलाया जा रहा है उस पर भी पीएम बोले। पीएम ने बताया कि जो इस देश की मिट्टी के मुसलमान हैं, जिनके पुरखे मां भारती की ही संतान थे, उन पर नागरिकता कानून और NRC दोनों का ही कोई लेना-देना नहीं है। ये एक्ट उन लोगों पर लागू होगा जो बरसों से भारत में ही रह रहे हैं। किसी नए शरणार्थी को इस कानून का फायदा नहीं मिलेगा। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक प्रताड़ना की वजह से आए लोगों को सुरक्षा देने के लिए ये कानून है।

9. पीएम ने कहा कि कुछ लोग CAA को गरीबों के खिलाफ बता रहे हैं, कह रहे हैं कि जो लोग आएंगे वो यहां के गरीबों का हक छीन लेंगे। पीएम ने कहा कि ये सिर्फ झूठ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से जो शरणार्थी आए हैं उनमें से ज्यादातर दलित परिवार से हैं। वहां आज भी दलितों पर अत्याचार होता है। वहां बेटियों के साथ अत्याचार होता है, जबरन शादी करके उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया जाता है।

10. जो पार्टियां आज यहां शोर मचा रही हैं, वो 2004 में कहां थीं जब वहां की सरकार ने कहा कि राज्य से बाहर के निवासी से शादी करने पर जम्मू-कश्मीर की बेटियों की वहां की नागरिकता खत्म हो जाएगी। क्या वो भेदभाव भारत के संविधान की स्पिरिट के अनुसार था?

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: