उत्तराखंड: नकली नोट छापने के बड़े गिरोह का पर्दाफाश, इस तरह तैयार करते थे जाली नोट

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर में नकली नोट छापने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। साथ ही 4 लाख रुपये के नकली नोट और नोट छापने वाली मशीन भी बरामद की गई है।

मामला टनकपुर इलाके का है। यहां तीन लोग मिलकर नकली नोटों छापने और फिर उसे मार्केट में सर्कुलेट करने का धंधा करते थे। तीनों युवक मिलकर नानकमत्ता की जन सुविधा केंद्र और फोटो स्टेट की दुकान पर नोट तैयार करते थे। फिलहाल पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।

कैसे हुआ खलासा?

दो युवक बृजकिशोर और रियाज नकली नोट छापने का काम करते थे और तीसरे युवक हरदेव के साथ मिलकर उसका कारोबार करते थे। ये लोग बड़ी ही चतुराई से सितारगंज, काशीपुर और बाजपुर के देहात क्षेत्र में इन नकली नोटों को चलाते थे। जब टनकपुर पुलिस को नकली नोटों के कारोबार का पता चला तो पुलिस और एसओजी पुलिस इसकी जांच शुरू की। इस दौरान पुलिस ने बृजकिशोर और रियाज को गिरफ्तार किया। दोनों ने पूछताछ में कबूल किया कि ये लोग नोट को छापने का काम करते थे और इसके मार्केट में सर्कुलेट करने का काम इनका तीसरा साथी करता था। इसके बाद पुलिस ने दबिश देकर इनके तीसरे साथी हरदेव को भी गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: