उत्तराखंड स्पेशल: हिमालय की लोक देवी झालीमाली

त्तराखंड में देवी भगवती के नौ रूपों यथा- शैलपुत्री, ब्रहृमचारिणी, चन्द्रघंटा, कुशमांडा, स्कन्दमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धदात्री के अलावा कई स्थानीय रूप हैं।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: इस मंदिर में बाघ रूप में विराजमान हैं भगवान शिव, भैरवनाथ हैं द्वारपाल

उत्तराखंड को देवों की भूमि कहा जाता है। ऐसा कहा जाता है की यहां हर जिले, हर शहर, हर इलाकों में भगवान किसी ना किसी रूप में विराजमान हैं।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: पहाड़ों में बसा खूबसूरत शहर है चमोली, पढ़िये क्यों इस शहर को धरती का स्वर्ग कहते हैं?

हिमालय के पहाड़ों में बसा एक बहुत ही खूबसूरत है चमोली। यहां एक तरफ धार्मिक स्थल है, तो दूसरी तरफ हिल्स स्टेशन, झील-झरने और नदियां हैं।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: 400 साल पहले की कारीगरी का आज के आर्किटेक्ट मानते हैं लोहा, पढ़िये क्या है इनकी खासियत

देवभूमि के कारीगरों का हुनर ही है ये कि आज से तकरीबन 350-400 साल पहले जो मकान बना दिये वो आज भी उसी मजबूती के साथ खड़ा है।

Read more

उत्त्तराखंड स्पेशल: इस गांव में हर घर के सामने टंगे मिलेंगे भुट्टे, विदेशी पर्यटकों के लिए बना फेवरेट टूरिस्ट डेस्टिनेशन

उत्तराखंड के पहाड़ों की हर जगह निराली है। हर स्थान की अलग पहचान है। यही वजह है कि देश-विदेश से लाखों पर्यटक हर साल यहां सैर-सपाटा करने आते हैं।

Read more

उत्तराखंड की इस खास सब्जी के इस्तेमाल से हमेशा रह सकते हैं जवान, 100 बीमारियां रहेंगी आप से दूर!

दुनिया के हर इंसान की ये इच्छा होती है कि वो हमेशा सेहतमंद और जवान रहे। अपने खानपान पर ध्यान रखकर आप ऐसा करने में बुहत हद तक कामयाब हो सकते हैं।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: क्यों खत्म होती जा रही है गढ़वाल की ये परंपरा?

गढ़वाल की एक परंपरा है डड्वार। नए वक्त में ये परंपरा मिटती सी जा रही है। डड्वार, गढ़वाल में दिया जाने वाला एक तरह का पारितोषिक है।

Read more

उत्तराखंड: दारमा घाटी..जहां पांडवों ने पांच चूल्हे लगाकर बनाया था अंतिम भोजन, खूबसूरती आप निहारते रह जाएंगे

शीतल आबोहवा, हरेभरे मैदान और खूबसूरत पहाड़ियां, ऐसा लगता है जैसे प्रकृति ने उत्तराखंड अपने अनुपम सौंदर्य की छटा दिल खोल कर बिखेरी है।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: कुमाऊं की वीरांगान रानी धना के शौर्य की कहानी

गढ़वाल की वीरांगना तीलू रौतेली के बारे में तो लोग काफी कुछ जानते हैं। आज आपको कुमाऊं की वीरांगना रानी धना के बारे में बताते हैं।

Read more

उत्तराखंड स्पेशल: जिस मकसद से प्रदेश की स्थापना हुई थी वो पूरा हुआ क्या?

लंबी लड़ाई के बाद 9 नवंबर 2000 को उत्तराखंड राज्य की स्थापना इस मकसद से हुई थी कि क्षेत्र का विकास होगा। जिससे स्थानीय लोगों का पलायन रुकेगा।

Read more