उत्तराखंड: राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने स्कूल के नए भवन का किया लोकार्पण, युवाओं को दी नसीहत

उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने वात्सल्य वाटिका बहादराबाद, हरिद्वार में भागीरथी सरस्वती विद्या मंदिर के नए भवन का लोकार्पण किया।

इस मौके पर राज्यपाल मौर्य ने जरूरतमंद बच्चों के लिए कार्य करने वाली संस्था वात्सल्य वाटिका को एक लाख रुपये दिए। उन्होंने समाज के सक्षम लोगों से जरूरतमंद तथा बेसहारा बच्चों की सहायता के लिए आगे आने का अनुरोध किया।

स्वामी विवेकानंद जयंती और मकर संक्रान्ति की बधाई देते हुये राज्यपाल ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने समाज को मानव सेवा तथा समरसता का संदेश दिया था। उन्होंने देश की प्रगति के लिये चरित्रवान, अनुशासित तथा राष्ट्रभक्ति से ओत-प्रोत युवाओं का आह्वान किया था।

वो उपासना के साथ ही कर्म, संघर्ष तथा परिश्रम को भी सत्य को प्राप्त करने का साधन मानते थे। उनके अनुसार, कर्म ही सच्ची उपासना है। आज के युवाओं को उनके विचारों को अवश्य पढ़ना चाहिए। मौर्य ने कहा कि वात्सल्य वाटिका के माध्यम से निर्धन, जरूरतमंद, संसाधन विहीन बच्चों के लिये आवास तथा गुरूकुल परम्परा से अच्छी शिक्षा की व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्राचीन भारतीय संस्कृति में गुरूकुल परम्परा से शिक्षा का अत्यन्त महत्व था। गुरूकुल परम्परा विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर, संस्कारवान, राष्ट्रप्रेमी तथा आदर्श नागरिक बनाने पर बल देती है। बच्चों में अच्छी शिक्षा के माध्यम से देश-प्रेम तथा मानवता की सेवा की भावना को सुदृढ़ करना आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही तेजी से बदलते वैश्विक परिदृश्य के अनुसार बच्चों को आधुनिक तकनीकी ज्ञान तथा कौशल विकास का प्रशिक्षण भी दिया जाना चाहिए। हमारी नई शिक्षा नीति भी बाल्यकाल से ही बच्चों को किसी न किसी व्यवसायिक कौशल में निपुण बनाने पर बल देती है। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि वात्सल्य वाटिका जैसी संस्थाएं सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत है । युवाओं को बढ़-चढ़कर समाज सेवा के कार्यों में आगे आना चाहिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: