उत्तराखंड के इन 3 जिलों में हुई सीजन की पहली बर्फबारी, बिछने लगे हैं बर्फ के चादर

उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी है। बारिश के साथ-साथ बर्फबारी का दौर भी शुरू हो रहा है।

बीते दिनों चमोली में सीजन का पहला हिमपात हुआ। बर्फबारी के बाद चमोली जिले के बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब में विहंगम नजारे देखने को मिल रहे हैं। बर्फ से ढकी चोटियां पहाड़ों की खूबसूरती बढ़ा रही हैं। उधर रुद्रप्रयाग जिले में स्थित केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले में स्थित यमुनोत्री में बर्फबारी के चलते ठंडक बढ़ गई है। लोग सर्दी से राहत पाने के लिए अलाव का सहारा ले रहे हैं।

पहाड़ों पर गिरी बर्फ से निचले इलाकों में भी तापमान में गिरावट आई है। बीते दिन राज्य के लगभग सभी मैदानी और पहाड़ी इलाकों में रुक-रुक कर बारिश होती रही। राजधानी देहरादून सहित आस-पास के क्षेत्रों में गुरुवार को भी बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग के अनुसार देहरादून, टिहरी और बागेश्वर जिलों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग ने जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। केदारनाथ यात्रा भी सुचारू हो गई है। शनिवार सुबह 8 बजे तक सोनप्रयाग से 5780 श्रद्धालुओं ने धाम के लिए प्रस्थान किया।

केदारनाथ के लिए यात्रा जारी है, लेकिन कई जिलों में संपर्क मार्ग बंद होने से यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। चंपावत में बसौटी रौकुंवर, पुनावे-सिप्टी-न्याड़ी, सूखीढांग डांडा मीडार, ठुलीगाड़-भैरव मंदिर, धौन-बड़ौली, स्याला-पोथ, चल्थी-नौलापानी, रौसाल डूंगराबोरा-चकसिलकोट, डूंगराबोरा-कायल मटियानी, बगोटी-डूंगरालेटी, बलूटा-पासम, बांकू – सुल्ला पाशम, बाराकोट-कोठेकरा और बाराकोट-मितोर्ली समेत कई सड़कें बंद हैं।

प्रशासन ने मौसम के मद्देनजर पूर्णागिरि धाम के दर्शन करने पर 19 सितंबर तक रोक लगाई है। यहां सड़कें बंद होने से सेलागाड़ और आसपास के लोगों की आवाजाही पर असर पड़ा है। ग्रामीण क्षेत्रों का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है, साथ ही जरूरी सामान की किल्लत हो गई है। राजधानी देहरादून सहित आस-पास के क्षेत्रों में बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग के अनुसार देहरादून, टिहरी और बागेश्वर जिलों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: