CDS के पास होंगे ये अधिकार और जिम्मेदारी, बिपिन रावत को CDS बनाने के पीछे ये हैं खास वजह

देश के रिटायर्ड सेना अध्यक्ष और उत्तराखंड के रहने वाले बिपिन रावत भारत के पहले CDS की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं। केंद्र सरकार इस बात का आधिकारिक ऐलान कर चुकी है।

बिपिन रावत मंगलवार को सेना अध्यक्ष के पद से रिटायर हो गए। वो बुधवार से CDS पद की नई जिम्मेदारी संभालेंगे। जनरल रावत अगले 3 सालों तक पद पर बने रहेंगे। देश में CDS का पद नया है। ऐसे में हर कोई ये जानना चाहता है कि आखिर CDS का काम क्या होगा, उसके अधिकार क्या होंगे?

नए CDS की जिम्मेदारी और अधिकार:

  • CDS के पास तीनों सेनाओं को आदेश जारी करने का अधिकार होगा।
  • युद्ध के दौरान सिंगल प्वॉइंट आदेश देने का अधिकार होगा।
  • साइबर और स्‍पेस कमांड की जिम्‍मेदारी CDS की होगा।
  • CDS का काम सेना, नौसेना और वायुसेना के बीच बेहतर तालमेल बैठाने की जिम्मेदारी होगी।
  • तीनों सेनाओं के परिचालन, लॉजिस्टिक्स, आवाजाही, प्रशिक्षण, सहायक सेवाओं, संचार, रखरखाव इत्यादि में संयुक्तता सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी होगी।

बिपिन रावत को इसलिए बनाया गया CDS:

  • जनरल बिपिन रावत केंद्र सरकार के भरोसेमंद हैं।
  • जनरल रावत के पास अशांत इलाको में काम करने का लंबा अनुभव है।
  • जनरल रावत की अगुवाई में कश्मीर में आतंकवाद का करीब-करीब सफाया हुआ।
  • जनरल रावत चीन से लगी वास्तविक नियंत्रण रेखा और पूर्वोत्तर में विभिन्न जिम्मेदारियां संभाल चुके है।

कौन हैं जनरल बिपिन रावत?

जनरल बिपिन रावत उत्तराखंड के रहने वाले हैं। उनका जन्म 16 मार्च 1958 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में हुआ था। उनके पिता लक्ष्मण सिंह रावत भी सेना में लेफ्टिनेंट जनरल रहे चुके हैं। रावत की पढ़ाई कैंब्रियन हॉल स्कूल, देहरादून। सेंट एडवर्ड स्कूल शिमला, नेशनल डिफेंस अकेडमी, खडकवासला और इंडियन मिलिट्री अकेडमी देहरादून से की है। बिपिन रावत ने मद्रास यूनिवर्सिटी से डिफेंस स्टडीज में एमफिल, मैनेजमेंट में डिप्लोमा और कम्प्यूटर स्टडीज में भी डिप्लोमा किया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: