उत्तराखंड के सीएम धामी ने दिल्ली में पीएम मोदी से की मुलाकात, PM के सामने रखी ये मांगें!

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने और राष्ट्रीय फार्मास्यूटिकल शिक्षा एवं शोध संस्थान की शाखा राज्य में भी स्थापित किए जाने का अनुरोध किया।

मुलाकात के दौरान सीएम धामी ने प्रधानमंत्री से पिथौरागढ़ एयरस्ट्रिप से हवाई सेवाओं के शीघ्र संचालन और मानस खण्ड मंदिर माला मिशन की स्वीकृति देने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को उत्तराखण्ड के लोहाघाट के समीप स्थित मायावती आश्रम आने के लिये भी न्यौता दिया।

प्रधानमंत्री मोदी से शिष्टाचार मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जीएसटी लागू होने पर राज्यों को राजस्व सुरक्षा प्रदान किये जाने के उद्देश्य से 5 वर्षों अर्थात 30 जून 2022 तक की अवधि के लिए जीएसटी की क्षतिपूर्ति की व्यवस्था की गयी थी। परंतु संरचनात्मक परिवर्तन, न्यून उपभोग आधार, राज्य में सेवा का अपर्याप्त आधार सहित अन्य कारणों से जीएसटी लागू होने के उपरांत राज्य के राजस्व में अपेक्षित वृद्धि दर्ज नहीं की जा सकी है। उन्होने राज्य के सीमित आर्थिक संसाधनों को देखते हुए प्रधानमंत्री से जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि जून, 2022 के बाद भी अग्रेत्तर वर्षों के लिए बढ़ाये जाने का अनुरोध किया।

धामी ने प्रधानमंत्री को राज्य के सीमान्त जनपद पिथौरागढ़ में एयरस्ट्रिप से हवाई सेवा संचालित किये जाने हेतु निविदा की कार्यवाही पूर्ण होने की जानकारी देते हुए उनसे पिथौरागढ़ एयरस्ट्रिप से हवाई सेवाओं के शीघ्र एवं सुचारू संचालन के लिये सम्बन्धित विभाग को निर्देश देने का अनुरोध किया। इसके अलावा उन्होने प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में केदारनाथ एवं बद्रीनाथ को मास्टर प्लान तैयार कर विकसित करने की योजना का जिक्र करते हुए इसी भांति प्रदेश के कुमांऊ मण्डल के पौराणिक मन्दिरों को जोड़े जाने के उद्देश्य से ‘मानस खण्ड मन्दिर माला मिशन’ को भी स्वीकृति दिये जाने का अनुरोध किया।

मुलाकात के दौरान सीएम धामी ने उत्तराखंड में राष्ट्रीय फार्मास्यूटिकल शिक्षा एवं शोध संस्थान की एक शाखा स्थापित किये जाने और टीएचडीसी इण्डिया लि. की इक्विटी शेयर धारिता में उत्तर प्रदेश के 25 प्रतिशत अंशधारिता को उत्तराखण्ड राज्य को स्थानान्तरित करने में केंद्र सरकार से सहयोग करने का भी अनुरोध किया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: