DehradunNews

उत्तराखंड: रविशंकर प्रसाद ने गिनाईं बजट की खूबियां, बताया- कैसे ये बजट देश की जनता के लिए होगा कारगर

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के बीजेपी दफ्तर में बीजेपी सांसद रविशंकर प्रसाद ने केंद्रीय बजट 2023–2024 की खूबियां बताते हुए प्रेस से बात की।

रविशंकर प्रसाद  ने कहा कि भारत को दुनिया का विकसित देश बनाना इस बजट का एजेंडा है। भारत की विकास दर करीब 7 फीसदी होने वाली है। देश के 80 करोड़ लोगों को मुफ्त खाद्यान्न की व्यवस्था की गई है। अब तक 220 करोड़ टीके बीजेपी ने देशभर में लगाए हैं ये टीका मेक इन इंडिया है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में दो मोबाइल फैक्ट्री थी आज 270 मोबाइल फैक्ट्री हैं। इस बजट के केंद्र भारत का कृषि विकास है इसके लिए 20 लाख करोड़ का क्रेडिट अब तक सबसे अधिक उत्तराखंड के प्रतिभा संपन्न नौजवान अग्रीकल्चर में सक्रिय हों और स्टार्ट–अप का लाभ उठाएं।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उत्तराखंड में सारी समितियों का डिजिटिलिकरण हो गया है। मत्स्य पालन यानी ब्लू इकॉनोमी को 6000 करोड़ मोटा अनाज यानि श्री अन्न योजना के लिए भी बड़ा प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि  कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 10 लाख करोड़। रेलवे के लिए 2 लाख 40 हजार करोड़ जिसमे से 5004 करोड़ अकेले उत्तराखंड के लिए।

उन्हें कहा कि इस बजट में देश की महिलाओं के लिए विशेष चिंता की गई है। 26 जनवरी पर कर्तव्य पथ की परेड में सेना के हर टुकड़ी की अगुवाई देश की बेटियां कर रहीं थीं ये बड़े गौरव का विषय है। उन्होंने कहा कि बजट में नौजवानों के लिए 30 स्किल इंडिया डिजिटल सेंटर खुलेंगे जिससे अगले 3 सालों में 47 लाख युवाओं को स्टाईफन मिलेगा।

बीजेपी सांसद ने कहा कि देश के 150 मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज खोले जाएंगे 3 से 4 नर्सिंग कॉलेज उत्तराखंड को भी मिलेंगे। टैक्सेशन प्रपोजल्स की बात की जाए तो पहले 5 लाख तक टैक्स नहीं लगता था अब ये सीमा बढ़ाकर 7 लाख कर दी गई है। 20–21 में 6 करोड़ 97 लाख लोगों ने इनकम टैक्स फाइल किया था। 22–23 में सात करोड़ से ज्यादा लोगों ने इनकम टैक्स फाइल किया था।

बता दें कि बीजेपी हाईकमान ने ये योजना बनाई है कि मंत्रियों पूर्व मंत्रियों को देशभर में लोगों को बजट की खूबियां बतानी हैं। इसी के तहत रविशंकर प्रसाद ने देहरादून के बीजेपी मुख्यालय में मीडिया से मुखातिब हुए और बजट की खूबियां बताईँ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.