टिहरी गढ़वाल: सात दिनों के लिए टिहरी डैम बंद, ये है वजह

टिहरी गढ़वाल में टिहरी डैम को अगले सात दिनों के लिए बंद कर दिया गया है।

टिहरी डैम के ऊपर से अब अगले सात दिनों तक कोई आवाजाही नहीं होगी। इंटेलिजेंस इनपुर के बाद डैम के ऊपर से आवाजाही को बंद करने का फैसला किय गया है। इस दौरान खांडखाला और टिपरी चेकपोस्ट पर बोलार्ड सिस्टम लगाए जाएंगे, ताकि गाड़ियों की पूरी तरह से चेकिंग की जा सके। CRPF चेकपोस्ट पर बिना चेकिंग के जाने वाले वाहनों के लिए यह सिस्टम कारगर साबित होगा। खास बात यह है कि सामान्य गाड़ियों की तरह ही टीएचडीसी के लोग भी इस दौरान डैमटॉप से आवाजाही नहीं कर पाएंगे।

आपको बता दें कि टिहरी बांध दुनिया के सबसे ऊंचे बांधों में से एक है। सिक्योरिटी की नजिये से टिहरी बांध काफी अहम है। बीपुरम-जीरो प्वाइंट रोड की खस्ताहाल को देखते हुए टीएचडीसी निश्चित समय के लिए दिन में बांध के ऊपर सामान्य वाहनों की आवाजाही करवाती है, लेकिन IB ने बांध की सुरक्षा को लेकर सरकार को आगाह किया है, इसके बाद से ही फिलहाल बांध के ऊपर से गाड़ियों की आवाजाही को बंद कर दिया गया है। टीएचडीसी इंडिया के अधिशासी निदेशक वीके बडोनी ने बताया कि टिहरी बांध के चार एंट्री प्वाईंट हैं। आईबी की रिपोर्ट के आधार पर चक्के प्वाइंट पर बोलार्ड सिस्टम लगाए जाने हैं।

करीब 70 लाख की लागत से ये हाइड्रोलिक ऑटोमैटिक सिस्टम लगाए जा रहे हैं, ताकि CISF को धोखा देकर डैम से आवागमन करने वाली गाड़ियों को रोका जा सके। बांध के स्पिल-वे और पीएसपी के एंट्री प्वाइंट, जीरो प्वाइंट की ओर से बोलार्ड सिस्टम लगाए दिए हैं, जबकि सामान्य वाहनों की आवाजाही वाले खांडखाला और टिपरी सीआईएसएफ चेक प्वाईंट पर मंगलवार से बोलार्ड सिस्टम लगाने का कार्य शुरू होगा। टीएचडीसी कर्मियों को भी पॉवर हाउस जाने के लिए जीरो प्वाइंट रोड का इस्तेमा करना होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: