उत्तराखंड में AAP ने किया ‘हर गांव कोरोना मुक्त’ अभियान का आगाज, कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर जांचेेंगे लोगों का स्वास्थय

हर गांव कोरोना मुक्त अभियान के तहत आज आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया और आप के वरिष्ट नेता कर्नल कोठियाल ने कोरोना किट से लदे वाहनों को हरी झंडी दिखाकर गढवाल और कुंमाउ के लिए रवाना किया।

आप पार्टी के प्रदेश कार्यालय देहरादून में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान आज प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया और आप के वरिष्ठ नेता कर्नल कोठियाल ने इन सभी वाहनों को हरी झंडी दिखाकर प्रदेश के कई गांवों के लिए भेजा। इन वाहनों में हजारों किटों को अलग अलग जिलों और गांवों के लिए भेजा गया।

आप की इस किट में हर गांव कोरोना मुक्त अभियान के तहत ,गांवों में ऑक्सीजन जांच केंद्र खोले जाने हैं । आप के इस मेडिकल किट में ऑक्सीमीटर
,आईआर थर्मामीटर, सेनेटाइजर, दवाइयां ,मास्क समेत कई अन्य जरुरी उपकरण मौजूद हैं।

कोरोना महामारी से निपटने के लिए आप पार्टी ने संकल्प लेते हुए ,हर गांव कोरोना मुक्त अभियान शुरु किया है। इस अभियान के माध्यम से पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता गांव गांव तक पहुंचेंगे ,जिसके लिए आप के 10 हजार कार्यकर्ता इस मिशन में लगेंगे। ये कार्यकर्ता पूरे प्रदेश में उन सभी गांवों में जाएंगे जहां अभी तक लोगों को स्वास्थय सेवाएं नहीं मिल पा रही हैं।

गौरतलब है कि बढते कोरोना संक्रमण से ग्रामीण क्षेत्रों में लोग डर के साए में जी रहे हैं,लेकिन बीजेपी सरकार उन्हें स्वास्थय लाभ पहुंचाने के बजाए हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

आप प्रभारी और कर्नल कोठियाल ने हरी झंडी दिखाकर इन वाहनों को कुमाऊं मंडल और गढ़वाल मंडल के लिए भेजे जिनमें हजारों किटों को भेजा गया। एक ट्रक समेत 30 छोटे वाहनों से आप ने इन किटों को पहाड़ के लिए भेजा। इस मौके पर कर्नल कोठियाल ने मीडिया को बताया कि, ये मुहिम आप पार्टी द्वारा शुरु की गई महत्वपूर्ण मुहिम है ,जिससे कि ग्रामीण अचलों में रहने वाले लोगों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए सभी मेडिकल उपकरणों से लैस किट दी जाएंगी ताकि लोगों को उन्हीं के गांवों में इलाज मिल सके।

उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता आईआर थर्मामीटर,ऑक्सीमीटर समेत मेडिकल किट लेकर उन लोगों को वितरित करेंगे जो जरूरतमंद हैं इसके लिए गांवों में ऑक्सीजन जांच केंद्र खोले जाएंगे । इसके अलावा अगर किसी को ज्यादा दिक्कत है तो वो आप के डॉक्टर हेल्पलाइन पर मदद ले सकता है।

इस दौरान कर्नल कोठियाल ने बताया कि उत्तराखंड नवनिर्माण को बहुत जल्द धरातल पर उतारने की योजना तैयार होगी जिसके लिए आम आदमी पार्टी पूरी तरह से गंभीर है। उन्होंने कहा इस पेंडेमिक में , आप पार्टी राजनीति से हटकर सिर्फ जनसेवा पर ध्यान दे रही है। हर गांव कोरोना मुक्त अभियान ,आप का डॉक्टर हेल्पलाइन, कोविड अस्पताल समेत कई कार्य इस बात को बताते हैं जो आप कार्यकर्ता लगातार इस महामारी के दौरान कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि हर गांव कोरोना मुक्त अभियान से,पहाडों में करीब 6 हजार से ज्यादा गांवों को इसका फायदा मिलेगा । इसके अलावा आप हर ब्लॉक में एक आइसोलेशन सेंटर भी बना रही है जहां आइसोलेशन के लिए बेड,ऑक्सीजन की सभी व्यवस्थाएं की जाएगी । इसके अलावा उन्होंने कहा पार्टी इसके साथ ही कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए भी पूरी तरह से गंभीर है और एकजुट है।

तीसरी लहर से बचने की तैयारियां अभी से करनी चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के कहने पर बेशक उन्होंने अपने बयान को लेकर माफी मांग ली है लेकिन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के साथ उनका छत्तीस का आंकड़ा बना हुआ है। इसी बीच हरिद्वार के कुछ ऐलोपैथी कोविड अस्पतालों में मरीजों को कोरोनिल खिलाए जाने पर आईएमए ने कड़ी आपत्ति जताई है।

इस मामले में आईएमए मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से शिकायत करने जा रहा है। आईएमए के प्रदेश सचिव डॉ अजय खन्ना ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि हरिद्वार के कुछ एलोपैथी कोविड अस्पतालों में मरीजों को दवाई के नाम पर कोरोनिल भी दी ला रही है।

उन्होंने इसपर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि इस संदर्भ में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और मुख्य सचिव ओम प्रकाश को पत्र लिखा जाएगा।उन्होंने कहा कि नेशनल मेडिकल कमीशन के आर्टिकल 34 में साफ लिखा गया है रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिसनर्स ही मरीजों को दवाई लिख सकते हैं।

उन्होंने कहा कि आईएमए इस बात की जांच कर रहा है कि अस्पतालों में मरीजों को कोरोनिल कैसे दी जा रही है। उन्होंने कहा कि काउंसिल के नियमों के हिसाब से मिक्सचर पैथी नहीं हो सकती और मिक्सचर पैथी को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोनिल कोरोना की दवाई नहीं है। इसके बावजूद इसे मरीजों को दिया जाना खतरनाक है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: