चमोली में तबाही के बाद मदद को आगे आई खालसा की एड टीम, लोगों ने जमकर की तारीफ, वीडियो वायरल

किसान आंदोलन के दौरान 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के बाद विवादों में घिरे खालसा का एक नया रूप सामने आया है।

उत्तराखंड के चमोली में भारी तबाही के बाद बड़ी तादाद में लोग आपदा प्रभावित लोगों तक मदद पहुंचाने की मुहिम में लगे हैं। इसी कड़ी में खालसा एड की टीम भी मुसीबत में फंसे लोगों की मदद कर रही है। खासला एड टीम की इस दरियादिली का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें नजर आ रहा है कि खालसा के वॉलंटियर्स ट्रक में भरकर फूड पैकेट स्थानीय लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

ये वीडियो वायरल होने के बाद कई लोगों सोशल मीडिय पर सरकार और उन लोगों से सवाल पूछ रहे हैं जो कुछ दिन पहले तक खालसा के लोगों पर सवाल खड़े कर रहे थे।

क्या है खासला?
खालसा सिख धर्म के विधिवत् दीक्षाप्राप्त अनुयायियों सामूहिक रूप है। खालसा पंथ की स्थापना गुरु गोबिन्द सिंह जी ने 1699 को बैसाखी वाले दिन आनंदपुर साहिब में की। इस दिन उन्होंने सर्वप्रथम पांच प्यारों को अमृतपान करवा कर खालसा बनाया और उसके बाद उन पांच प्यारों के हाथों से खुद भी अमृतपान किया। सतगुरु गोबिंद सिंह ने खालसा महिमा में खालसा को “काल पुरख की फ़ौज” पद से निवाजा है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: