राहुल गांधी के सावरकर वाले बयान पर घमासान मच गया है

आर्थिक मोर्चे पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की नाकामी, नागरिकता संशोधन बिल, महंगाई, बेरोजगारी समेत कई मुद्दों को लेकर कांग्रेस ने शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में भारत बचाओ रैली की।

इस रैली में राहुल गांधी, सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के तमात बड़े नेता शामिल हुए। रैली में राहुल, सोनिया और प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। सोनिया गांधी ने कहा कि आज का दौर अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा हो गया है। वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी है तो चार करोड़ नौकरी जाना मुमकिन है, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के सावरकर पर दिये बयान हो रही है।

राहुल गांधी ने रैली को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर जमकर हमला बोल । साथ ही देश में हो रही रेप की घटनाओं पर दिये अपने बयान पर माफी मांगने से इनकार कर दिया। मेरा नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, मेरा नाम ‘राहुल गांधी’ है। मर जाऊंगा, मगर माफी नहीं मांगूंगा। सच बोलने के लिए मैं माफी नहीं मांगूंगा। कांग्रेस का कोई भी व्यक्ति माफी नहीं मांगेगा। राहुल ने कहा कि पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को देश बर्बाद करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

बयान पर बवाल क्यों?

हिंदूवादी नेता दिवंगत विनायक दामोदर सावरकर ने 14 नवंबर, 1913 में अंडमान की सेलुलर जेल में बंद रहने के दौरान उस वक्त की ब्रिटिश सरकार को कथित तौर पर एक माफी पत्र लिखा था। राहुल गांधी ने इसी को लेकर सावरकर पर हमला बोला। गौरतलब है कि झारखंड की एक रैली में राहुल गांधी ने ‘मेक इन इंडिया’ के आधार पर ‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी की थी। जिसके बाद बीजेपी नेताओं ने उनसे माफी की मांग की थी। उनके बयान को लेकर संसद में भी जमकर हंगामा हुआ था।

सावरकर वाले बयान पर किसने क्या कहा?

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है।  फडणवीस ने कहा है कि राहुल गांधी सावरकर के नाखून के बराबर भी नहीं हैं और खुद को ‘गांधी’ समझने की गलती उन्हें नहीं करनी चाहिए। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्होंने अपने बयान से देश को बदनाम किया है। उनकी हरकतें राष्ट्र विरोधी है। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और बीजेपी नेता संबित पात्रा ने भी राहुल गांधी पर उनके बयान को लेकर पलटवार किया है।

सहयोगी दल के नेता भी नाराज

महाराष्ट्र सरकार में कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना ने राहुल गांधी के बयान पर नाराजगी जताई है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने बिना राहुल गांधी का नाम लिये ट्वीट किया, ”वीर सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के ही नहीं, देश के देवता हैं, सावरकर नाम में राष्ट्र अभिमान और स्वाभिमान है। नेहरू-गांधी की तरह सावरकर ने भी देश की आजादी के लिए जीवन समर्पित किया। इस देवता का सम्मान करना चाहिए। उसमें कोई भी समझौता नहीं होगा। जय हिंद।”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: